MY THIRD BOOK

MY THIRD BOOK
मेरी तीसरी प्रकाशित पुस्तक (मई में प्रकाशित होगी)

सोमवार, 2 दिसंबर 2013

बेईमानी.


बेईमानी - मौत की...

मौत,
मैंनें आह्वान किया था तेरा,
और तू आई,
पर यह क्या किया तूने,
मेरे पास नहीं आई,

तुम यमराज हो तो,

और मै  भी हूँ एम राज?

आजमाकर देख लिया ?
मैंने कहा था ना,
अतिथि और आगंतुक को,
यहाँ निराश नहीं किया जाता,
खाली हाथ लौटाया नहीं जाता,

अब तो तुम्हारे अनुभव ने ,
तुम्हें बता ही दिया...
अब तो तुमने जान ही लिया,
यह हमारी अनुवांशिक परंपरा है.

.....................................................
एम.रंगराज अयंगर.