मेरी पुस्तक "मन दर्पण" का कवर - अप्रेल मध्य तक प्रकाशित होने की संभावना.

मेरी पुस्तक "मन दर्पण" का कवर - अप्रेल  मध्य तक प्रकाशित होने की संभावना.

Flag counter MAP

Free counters!

मंगलवार, 13 सितंबर 2011

शहंशाह


             शहंशाह

            हर शाह को,
            शहंशाह बनने की,
            तमन्ना तो होती है.
            समय को चीर होती है,
            मगर ढाढस नहीं होता,
            इसी से पीर होती है.

            समय मौसम देश पढ़-पढ़ कर,
            मौका एक तलाशा जाए, कि
            तरकश से निकलकर तीर,
            लक्ष्य को भेदे बिना,
            वापस न आए.

            निशाना साधकर, गर समझकर,
            तीर, कमान से छोड़ा जाए, तो
            क्या मजाल कि लक्ष्य
            धराशायी न हो जाए.

            जोश, यह हर जवानी की अमानत है,
            मदहोश, यह किस तरह की जियारत है?
            इन हालातों में अक्ल पर नकाब चढ़ जाए,
            फिर जमाने की हालातों को, वे
            न पढ पाएं.

            वक्त के आगे हर इंसान बौना नजर आए,
            वक्त के बिन साथ कोई कुछ न कर पाए.

            एम.आर.अयंगर.
एक टिप्पणी भेजें