मेरी पुस्तक "मन दर्पण" का कवर - अप्रेल मध्य तक प्रकाशित होने की संभावना.

मेरी पुस्तक "मन दर्पण" का कवर - अप्रेल  मध्य तक प्रकाशित होने की संभावना.

Flag counter MAP

Free counters!

मंगलवार, 8 नवंबर 2016

बंधन

मत बाँधो मुझको बंधन में.

पहले तो मान नहीं पाऊँ,
फिर उनको तोड़ नहीं पाऊँ,
जो बाँध रहे वो तोड़ चले 
मैं फिर भी बँधा ही रह जाऊँ.
मत जकड़ो मुझको बंधन में.

ये खून के रिश्ते और ही है,
पानी के सदृश होते हैं,
अक्सर मतलब के होते हैं
मतलब की बात न होने पर,
पानी सा अदृश्य होते हैं।
मतलब क्या मुझको बंधन से.
मत बाँधो मुझको बंधन में।


अच्छा है हमराही रहना,
अपने - अपने पथ पर चलना,
जितना साथ लिखा है अपना,
उतना संग हमें है रहना,
इस मोह पाश में, क्रंदन में
मत बाँधो मुझको बंधन में।

मंजिल मेरी मैं ना जानूँ,
मंजिल तेरी तू ना जाने,
कब तक साथ कोई ना जाने,
जब तक साथ है तो पहचाने.
सर्वोत्तम ऐसे वंदन हैं,
मत बाँधो मुझको बंधन में.

नियति लिखी के साथ चलें हम,
करते मीठे बात चलें हम,
रिश्तों के बंधन से उठकर,
जज्बातों के साथ चलें हम.
रहने दो मुझको उपवन में,
मत बाँधो मुझको बंधन में.
------------------------------------

एक टिप्पणी भेजें